महंगाई को 4 फीसद पर बनाए रखना मुख्य लक्ष्य- RBI

मुंबई (4 अक्टूबर): गवर्नर उर्जित पटेल की अध्यक्षता में आज मौद्रिक समीझा नीति की बैठक हुई। बैठक में आरबीआई ने देश में गिरते विकास दर और जीडीपी पर जहां चिंता चताई। वहीं  ब्याज दरों को यथावत रखने का फैसला किया है। आरबीआई ने रेपो रेट को 6 फीसद पर और रिवर्स रेपो रेट को 5.75 फीसद पर बरकरार रखा है। इसके साथ ही आरबीआई ने इकोनॉमिक ग्रोथ का अनुमान घटाकर 6.7 फीसद कर दिया है। आरबीआई के इस फैसले से अब सस्ते लोन का इंतजार और बढ़ गया है। गौरतलब है कि एमपीसी की अगली बैठक 5-6 दिसंबर को होगी।

महंगाई के मोर्चे पर अपना रुख व्यक्त करते हुए आरबीआई ने अक्टूबर मार्च अवधि के दौरान सीपीआई इन्फ्लेशन के 4.2 से 4.6 फीसद तक रहने का अनुमान लगाया है। आरबीआई ने कहा कि महंगाई दर को 4 फीसद पर बनाए रखना मुख्य लक्ष्य है। आरबीआई ने अक्टूबर-दिसंबर 2018 में 4.9% महंगाई रहने का अनुमान जताया है।

आरबीआई का कहना है कि महंगाई अपने मौजूदा स्तर से और बढ़ेगी। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी छमाही में यह 4.2 से 4.6 की रेंज में रहेगी। आरबीआई का कहना है कि किसानों को कर्ज माफी देने से राजकोषीय घाटे पर असर पड़ेगा।