आरबीआई ने इलाहाबाद बैंक पर लगाई बड़ी पाबंदी

नई दिल्ली (15 मई): आरबीआई ने सार्वजनिक क्षेत्र के इलाहाबाद बैंक पर जोखिम वाले क्षेत्रों को ऋण देने और ऊंची लागत की जमा जुटाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इलाहाबाद बैंक ने सोमवार को यह जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि इससे कुछ दिन पहले ही केंद्रीय बैंक ने सार्वजनिक क्षेत्र के देना बैंक पर भी इसी तरह की पाबंदियां लगाईं थीं। केंद्रीय बैंक ने यह कदम त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) करते हुए उठाया है।

इसके अलावा सरकार ने इलाहाबाद बैंक की सीईओ और एमडी उषा अनंथसुब्रमण्यम और पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के दो कार्यकारी निदेशकों को हटाने की कार्यवाही शुरू कर दी है। यह कार्यवाही हीरा कारोबारी नीरव मोदी के साथ मिलकर 2 बिलियन डॉलर के फ्रॉड में शामिल होने के संबंध में की जा रही है। गौरतलब है कि पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी (गीतांजलि जेम्स के प्रमुख) मुख्य आरोपी हैं। 

सरकार की ओर से यह कदम सीबीआई की ओर से इस मामले में पहली चार्जशीट दाखिल करने के बाद आया है। देश के सबसे बड़े वित्तीय घोटाले के संबंध में पीएनबी के बोर्ड ने अपने दो कार्यकारी अधिकारियों के वी ब्रह्माजी राव और संजीव शरण से सभी वित्तीय और कार्यकारी अधिकार वापस ले लिए हैं। वहीं इलाहाबाद बैंक का बोर्ड आज अपनी सीईओ और एमडी उषा अनंथसुब्रमण्यम से सभी अधिकार वापस ले सकता है। वो बीते साल 5 मई तक बैंक की मैनेजिंग डायरेक्टर रही थीं। आपको बता दें कि पीएनबी घोटाले की शुरुआत साल 2011 में हुई थी और यह घोटाला साल 2018 में खुलकर सामने आया।