5000 से ज्यादा के पुराने नोटों को जमा करने के नियम पर सरकार का यू टर्न

नई दिल्ली(21 दिसंबर): 5,000 रुपये से ज्यादा के पुराने नोटों पर कड़ी शर्तें लगाए जाने के दो दिन बाद ही रिजर्व बैंक ने इसे वापस ले लिया है। आरबीआई ने इस संबंध में जारी नोटिफिकेशन वापस लेते हुए कहा है कि जिन खातों के साथ नो योर कस्टमर (केवाइसी) उपलब्ध हैं, उनमें 5,000 रुपये से ज्यादा जमा पर कोई पाबंदी नहीं रहेगी। बता दें कि इस फैसले की काफी अलोचना हो रही थी।

- केंद्रीय बैंक की ओर से जारी नए नोटिफिकेशन में यह भी कहा गया है कि केवाइसी खातों पर एकमुश्त जमा वाला नियम भी लागू नहीं होगा। आरबीआई के इस स्पष्टीकरण का मतलब यह है कि जिन खातों के लिए केवाइसी डॉक्युमेंट्स उपलब्ध हैं, उनमें जितनी भी राशि, जितनी बार चाहें, जमा कराई जा सकती है।

- इससे पहले सोमवार को आरबीआई ने नोटिफिकेशन जारी कर कहा था कि जिन लोगों के पास पुराने नोट बचे हैं, वो बार-बार बैंक नहीं जाकर एक बार में ही सारा पैसा अकाउंट में जमा करा दें। हालांकि, इसके लिए एक शर्त भी रखी गई थी कि ऐसे जमाकर्ताओं को लिखित में बताना होगा कि आखिर उन्होंने अब तक पैसे क्यों नहीं जमा कराए थे।

- आरबीआई के इस निर्देश के बाद से बैंकों में 5,000 रुपये से ज्यादा की राशि जमा करानेवालों की भीड़ होने लगी। कई लोगों ने इस सवाल के बड़े तीखे जवाब दिए। उधर, विभिन्न बैंकों में भी इस निर्देश के मद्देनजर संशय की स्थिति देखी गई। कई बैंकों ने तो 5,000 रुपये से ज्यादा जमा करने आए लोगों को यूं ही लौटा दिया।