RBI दे सकती है खुशखबरी, सस्ता हो सकता है लोन

नई दिल्ली (6 फरवरी): बजट पेश होने के एक हफ्ते बाद 8 फरवरी को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) मॉनिटरी पॉलिसी की घोषणा करेगा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इसमें ब्याज दरों में 0.25% की कटौती हो सकती है, जिससे आम आदमी को थोड़ी राहत जरूर मिलेगी।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अगले वित्त वर्ष के लिए वित्तीय घाटे को लक्ष्य से कुछ अधिक रखा है, लेकिन उन्होंने इसके बाद वाले वर्ष के लिए टारगेट में बदलाव नहीं किया है। इससे फिस्कल डेफिसिट को लेकर सरकार के कमिटमेंट का पता चलता है। इन सबके साथ केंद्र इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च भी बढ़ा रहा है।

- रिजर्व बैंक के लिए इस साल सबसे बड़ी चुनौती ग्रोथ और ग्लोबल इकॉनमी के बीच संतुलन साधने की होगी।

- खाने के सामान सस्ते हो रहे हैं। इसलिए खुदरा महंगाई कोई चुनौती नहीं है। कोर इन्फ्लेशन (गोल्ड को छोड़कर) भी काबू में है।

- इसके साथ ग्रामीण और इन्फ्रा क्षेत्र के लिए बजट में ऐलोकेशन बढ़ाया जाना अच्छी बात है।

पॉलिसी में रिजर्व बैंक नोटबंदी के बारे में क्या कहता है, इस पर भी नजर रहेगी। पिछले साल 8 नवंबर को नोटबंदी का ऐलान हुआ था, जिसमें 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों को अमान्य घोषित कर दिया गया था। इन्हें बैंकों में जमा कराने की आखिरी तारीख 30 दिसंबर थी। इसलिए इस बार की पॉलिसी में यह उम्मीद की जा रही है कि रिजर्व बैंक पुराने नोटों के जरिये बैंकों के पास कितना पैसा आया है, इसकी जानकारी देगा।