RBI ने घटाया विकास का अनुमान, जताई ग्लोबल मंदी की आशंका

नई दिल्ली (8 फरवरी): साल 2017 की पहली क्रेडिट पॉलिसी और वित्त वर्ष 2016 की आखिरी क्रेडिट पॉलिसी का ऐलान हो गया है। RBI ने इस बार भी नीतिगत दरों में कटौती नहीं की है। बिना बदलाव के रेपो रेट 6.25 फीसदी पर बरकरार है और रिवर्स रेपो रेपो रेट 5.75 फीसदी पर बरकरार है। वहीं CRR (कैश रिजर्व रेश्यो) भी 4 फीसदी पर ही पहले की तरह बरकरार है। इससे लोगों की कर्ज सस्ते होने की उम्मीदों को झटका लगा है।

इसके साथ ही आरबीआई ने विकास दर के अनुमान को घटाया है. नोटबंदी से पहले 7.6 फीसदी विकास दर का अनुमान था जिसे घटाकर अब 7.1 फीसदी कर दिया गया है। साथ ही RBI ने 2017 में ग्लोबल मंदी की आशंका जतायी है।