RBI गवर्नर राजन नहीं चाहते सेवा विस्तार

नई दिल्ली(2 जून): भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने संकेत दिया है कि सितंबर में कार्यकाल समाप्त होने के बाद वह इस पद पर नहीं बने रहना चाहते हैं। राजन ने केंद्र सरकार को कहा है कि कार्यकाल समाप्ति के बाद वह अमरीका वापस चले जाएंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वह एक अमरीकी विश्वविद्यालय से जुडऩा चाहते हैं और भारतीय अर्थव्यवस्था पर शोध करना चाहते हैं। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राजन के विरुद्ध तीखी टिप्पणी की है और उन्हें पद से हटाने की मांग की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हालांकि संकेत दिया है कि वह राजन को पद पर बनाए रखना चाहते हैं।

एक प्रमुख बांग्ला समाचार पत्र के मुताबिक, भाजपा के कई नेताओं ने स्वामी की मांग पर सवाल उठाए हैं। माना जा रहा है कि वह पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की शह पर यह मांग कर रहे हैं। रिपोर्ट में कुछ अन्य सूत्रों के हवाले से यह भी कहा गया है कि मोदी गवर्नर को दो साल का सेवा विस्तार देने के पक्ष में हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी मोदी को सुझाव दिया है कि यदि राजन को बर्खास्त किया जाएगा, तो दुनियाभर में नकारात्मक संदेश जाएगा। अनेक उद्योगपतियों और दुनियाभर के थिंक टैंक ने भी राजन के प्रति समर्थन जताते हुए उन्हें सर्वोत्तम अर्थशास्त्री बताया है। उन्होंने कहा है कि राजन सुधार के पथ पर चल रहे हैं।