सस्ता लोन, कम EMI का सपना टूटा, RBI ने कम नहीं किया रेपो रेट


मुंबई (7 दिसंबर): नोटबंदी के बाद RBI ने आज अपने तिमाही मौद्रिक नीति का ऐलान किया। क्रेडिट पॉलिसी के ऐलान से पहले कयास लगाए जा रहे थे कि RBI रेपो रेट यानी ब्याज दर में कटौती कर आम आदमी को राहत देगी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ है। RBI ने रेपो रेट को 6.25 फीसदी पर ही बनाए रखने का फैसला किया है।

दरअसल नोटबंदी के बाद बैंकों के पास 11 लाख करोड़ रुपये से ज्याद पहुंच चुका है। ऐसे में RBI के इस की मौद्रिक  नीति समीक्षा में ब्याज दरों में कटौती की संभावना जताई जा रही है। बताया जा रहा था की नोटबंदी के प्रभाव को आम आदमी पर कम करने के लिए RBIब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कमी कर सकता है। लेकिन RBI के इस फैसले से सस्ता लोन और कम EMI का लोगों का सपना फिलहाल टूट गया है।