देश में कैश की नहीं किल्लत, 82.6 फीसदी रुपया अर्थव्यवस्था में फिर से लौटा

नई दिल्ली (7 जून): प्रधानमंत्री मोदी के नोटबंदी के ऐलान के बाद 8 नवंबर से 30 दिसंबर 2016 के बीच देशभर के तमाम बैंकों में लोगों ने तकरीबन 15 लाख करोड़ रुपये के 500 और 1000 के पुराने नोट बैंकों में जमा करवाया। RBI के डेप्युटी गवर्नर बीपी कानूनगो के मुताबिक नोटबंदी के दौरान जमा हुए रकम का 82.6 फीसदी रुपया फिर से सिस्टम में लौट चुका है। उन्होंने कहा कि देश में लंबे समय तक कैश की कमी रही, यह नहीं कहा जा सकता। आंकड़ों के मुताबिक 82.6 प्रतिशत अर्थव्यवस्था का विमुद्रीकरण हुआ जो कम नहीं है।