अगर कॉर्ड से शॉपिंग करते हैं तो पढें ये खबर...

नई दिल्ली(12 अगस्त): बैकों से गलत इलेक्ट्रॉनिक ट्रांजक्शन की शिकायत को देखते हुए रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने एक सर्कुलर निकाला है। इसके मुताबिक अगर बैंक की गलती के कारण किसी के साथ फ्रॉड होता है , किसी दूसरे द्वारा गलत तरीके से पैसा निकाला जाता है तो ग्राहक जिम्मेदार नहीं होगा ,लेकिन ग्राहक को ट्रांजक्शन की जानकारी बैंक से मिलने के तीन दिन के अंदर बैंक को शिकायत करनी होगी की गलत ट्रांजक्शन हुआ है। 

- अगर ग्राहक तीन दिन बाद और एक सप्ताह के अंदर बैंक को रिपोर्ट करता है तो बैंक ग्राहक से 5000 चार्ज करेगा ।

- अब बैंकों को ट्रांजक्शन अलर्ट देना जरुरी है, और बैंकों को ये व्यवस्था करनी है की ग्राहक २४ घंटे एसएम , फ़ोन , वेबसाइट या ब्रांच में जाकर ई फ्राड की शिकायत कर सके