नोटबंदी: सारा कालाधन हुआ सफेद! नहीं लौटे सिर्फ 1600000000000

नई दिल्ली (30 अगस्त): नोटबंदी हुए करीब 8 महीने बीत गए और आज नोटबंदी पर सबसे बड़ी खबर आई है। आरबीआई ने नोटबंदी के आंकड़े जारी किए हैं। इसके मुताबिक करीब-करीब सारा पैसा बैंकों में वापस आ चुका है।

नोटबंदी के दौरान मार्केट में 15 लाख 44 हजार करोड़ रुपए थे, जिसमे से 15 लाख 28 हजार करोड़ रुपए वापस आ गए। आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक सिर्फ (1.3 फीसदी) 8 हजार 900 करोड़ रुपए के 1000 के नोट वापस नहीं आए हैं। सरकार का अनुमान था कि नोटबंदी के बाद करीब 3 लाख करोड़ रुपए के नोट वापस नहीं आएंगे, लेकिन सरकार का अनुमान बिल्कुल गलत निकला। मतलब साफ है सारा काला धन सफेद हो गया।

रिजर्व बैंक ने कहा कि नोटबंदी के बाद नये नोटों की छपाई से वर्ष 2016-17 में नोटों की छपाई की लागत दोगुनी होकर 7,965 करोड़ रुपये हो गई जो 2015-16 में 3,421 करोड़ रुपये थी। नोटबंदी के बाद बैंकिंग सिस्टम में नोटों का सर्कुलेशन 20.2 फीसदी (YoY) घटा है। इस साल सर्कुलेशन में नोटों की वैल्यू 13.1 लाख करोड़ है जबकि पिछले साल (मार्च) यह 16.4 लाख करोड़ थी।

आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक बैंकिंग सिस्टम में मार्च 2017 तक 7,62,072 नकली नोट पकड़े गए। सबसे बड़ी चिंता की बात 2000 और 500 रुपये की नई डिजाइन के भी नकली नोटों के सामने आने की है। आरबीआई के मुताबिक 2000 रुपये के नोट की नई डिजाइन के 638, और 500 रुपये के नोट की नई डिजाइन के 199 नकली नोट पकड़े गए।