शेरों के साथ सेल्फी लेने पर फंसे क्रिकेटर रवींद्र जडेजा, जांच के आदेश

 

नई दिल्ली (17 जून) : अहमदाबाद में वन विभाग के अधिकारियों ने क्रिकेटर रवींद्र जडेजा से जुड़े मामले में जांच का आदेश दिया है। दरअसल जडेजा ने सोशल मीडिया पर ऐसी कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं जिनमें वे और उनकी पत्नी संरक्षित एशियाटिक शेरों के साथ नज़र आ रहे हैं।

गुजरात राज्य की गिर वाइल्डलाइफ सेंचुरी के अधिकारियों ने गुरुवार को जांच के आदेश दिए। बता दें कि इस हफ्ते के शुरू में जडेजा ने सफारी के दौरान शेरों के सामने खींची गई फोटो को सोशल मीडिया पर अपलोड किया था जो वायरल हो गई थीं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक गिर नेशनल पार्क संरक्षित क्षेत्र है। यहां लोगों को इजाजत नहीं है कि सफारी के दौरान वो वाहन से नीचे उतरें।

चीफ फॉरेस्ट कंजरवेटर ए पी सिंह ने कहा, क्योंकि सफारी के दौरान ज़मीन पर उतरना नियमों के ख़िलाफ़ है इसलिए हमने जांच के आदेश दिए हैं। सिंह के मुताबिक जांच पूरी होने के बाद पेनल्टी तय की जाएगी।

इंस्टाग्राम पर एक फोटो में जडेजा को हंसते हुए और पीछे आराम कर रहे शेरों की ओर इशारा करते देखा जा सकता है। इस फोटो पर जडेजा ने कैप्शन लिखा है- पारिवारिक फोटो, सासन (गिर) में अच्छा समय बिताया।

एक और फोटो में जडेजा अपनी पत्नी के साथ नज़र आ रहे हैं। पृष्ठभूमि में एक शेर भी दिख रहा है।  

ये फोटो गुजरात वन विभाग की ओर से सैलानियों और स्थानीय लोगों को शेरों के साथ सेल्फी ना लेने की सलाह देने के कुछ दिन बाद सामने आई हैं। बता दें कि यहां कई ग्रामीण शेरों के हमले में घायल हो चुके हैं।

एशियाटिक शेरों को 2008 में संरक्षित प्रजाति घोषित किया गया था। वन्यजीव कार्यकर्ताओं के मुताबिक गिर में शेरों की संख्या बढ़ने के संकेत मिलना अच्छी बात है। पिछली गिनती के मुताबिक गिर में 523 शेर हैं।