वर्ल्ड टी-20 सेमीफाइनल में फेंके नो-बॉल पर बोले अश्विन

नई दिल्ली(9 अप्रैल): वर्ल्ड टी-20 के सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज के बल्लेबाज सिमंस के खिलाफ आर अश्विन की एक नो बॉल टीम इंडिया को महंगी पड़ी थी। अश्विन के इस गेंद पर सिमंस बुमरा को कैच दे बैठे थे लेकिन नो बॉल होने के कारण वह नॉट आउट रहे। अश्विन का कहना है कि एक नो बॉल से वे सेमीफाइनल के विलेन नहीं बन जाते। हालांकि, इतने बड़े मैच में हार के बाद खुद महेंद्र सिंह धोनी ने कहा था कि टीम इंडिया को दोनों नो-बॉल महंगी पड़ी थीं।

आईपीएल शुरू होने से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में अश्विन ने कहा कि ऐसे कई जर्नलिस्ट और एक्सपर्ट्स हैं जो कहते रहे हैं कि मैंने लंबे वक्त से नो-बॉल नहीं किया। अब एक नो बॉल डालकर मैं विलेन नहीं बन जाता। 43 टी20 इंटरनेशनल मैच में 50 विकेट और 179 आईपीएल मैचों में 188 विकेट ले चुके अश्विन ने ये भी बताया कि सेमीफाइनल के दिन ड्यू फैक्टर की वजह से पहले बॉलिंग कितनी मुश्किल थी।

हार के बारे में सवाल पूछने पर अश्विन ने कगा कि मैं आप पर दोष नहीं मढ़ रहा। लेकिन आपको जिम्मेदारी से लिखना चाहिए क्योंकि आपको पढ़कर सैकड़ों लोग अपनी राय बनाते हैं। अश्विन ने बताया कि सेमीफाइनल के बाद उनके डॉगी को हीट स्ट्रोक हो गया था। इसके बाद मुझे महसूस हुआ कि कई चीजें लाइफ में इम्पॉर्टेंट होती हैं। मैंने अगले तीन दिन तक अखबार नहीं देखे। मैंने नहीं पढ़ा कि लोगों ने मेरे बारे में क्या लिखा।