रावण का मंदिर बनाने पर विवाद, मूर्ति तोडी़, पुलिस तैनात

नई दिल्ली (9 अगस्त): कहा जाता है कि  ग्रेटर नोएडा के बिसरख गांव रावण की जन्म भूमि है। हालांकि ऐसा कोई प्रमाण उपलब्ध नहीं है फिर गांव में कभी दशहरा न मनाये जाने और रावण का पुतला न जलाए जाने की परंपरा काफी पुरानी है। इस परंपरा को ऐतिहासिक दस्तावेज में तब्दील करने के लिए गांव वाले रावण का मंदिर बनाना चाहते थे। रावण की मूर्ति भी तैयार करवा ली गयी। 11 अगस्त को मूर्ति की स्थापना होनी थी। लेकिन इसी बीच कुछ लोगों ने इसका विरोध किया और रावण की मूर्ति को खण्डित कर दिया। विवाद आगे न बढ़े इसलिए विवादित स्थल पर पुलिस तैनात कर दी गयी है। कुछ लोगों के खिलाफ तोड़-फोड़, मारने-पीटने की धमकी देने का मामला दर्ज कर लिया गया है। अगर यह मूर्ति स्थापित हो जाती तो  संभवतः भारत में रावण की पहला मंदिर होता।