बेटी की शादी में पिता के खर्च हुए मात्र 40 रुपये

रतलाम (4 दिसंबर): नोटबंदी के 26वें दिन भी देशभर कैश की भारी किल्लत है। नगदी की किल्लत की वजह से लोग अपनी दैनिक जरूरतों को भी पूरा नहीं कर पा रहे हैं। कैश के लिए लोग दिनभर बैंक और एटीएम के बाहर खड़े रहने को मजबूर है। फिर भी उन्हें कैश नहीं मिल पा रहा है। इस नोटबंदी का असर शादियों पर भी पर रहा है। नोटबंदी और नगदी की वजह से लोगों को शादी की तैयारियों में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

मध्यप्रदेश के रतलाम में नोटबंदी के चलते एक दूल्हा-दुल्हन ने सिर्फ 40 रुपए में शादी कर ली। दोनों परिवारों की सहमति से हुई इस शादी में करीब 70 मेहमान शामिल हुए। पूरी शादी में दुल्हन के पिता 40 रुपए की वरमाला लेकर आए और शादी की रस्में अदा हो गईं। कपिल और अंतिमबाला ने अनोखे तरीके से शादी की।

नोटबंदी से परेशानी के बीच इलाके के लोगों ने दोनों परिवारों को सादगी से शादी की सलाह दी। जिसपर शुरुआत में दोनों परिवारों को अमल करने में दिक्कत हो रही थी, लेकिन बाद में दोनों इसपर राजी हो गए। 

पहले दोनों ने कोर्ट में शादी की फिर मंदिर में जाकर रीति-रिवाज से फेरे लिए। शादी के बाद दुल्हन के पिता के दोस्तों ने दूल्हा-दुल्हन, बराती और रिश्तेदारों को चाय पार्टी दी। चाय दुकानदार को जब पूरी बात पता चली तो उन्होंने अपनी तरफ से सबकी खूब आवभगत की।

हर जगह हुए स्वागत और आवभगत से कपिल और उसके परिजन फूले नहीं समाए। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है मानो सब हमारी शादी में शरीक हैं। कपिल के पिता बस संचालक हैं। उधर, दुल्हन के पिता की आंखों से खुशी के आंसू बरस रहे थे। उन्होंने बताया कि दोस्त, पड़ोसी और शहर के लोगों ने बिटिया को इतना प्यार दिया जितनी उन्हें उम्मीद नहीं थी। उन्होंने कहा कि उनकी जेब से सिर्फ वरमाला के 40 रुपए खर्चे हुए और बेटी की विदाई हो गई।