मोदी सरकार का बड़ा फैसला, अब 1.50 लाख की जगह 55 हजार में होगी 'नी प्लांट' सर्जरी

नई दिल्ली (16 अगस्त): मोदी सरकार ने बड़ा फैसला किया है। सरकार ने नी प्लांट सर्जरी के दाम को नियंत्रित करने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद अब हिंदुस्तान में नी प्लांट सर्जरी सस्ती हो जाएगी। सरकार के इस फैसले के बाद अब 1.50 रुपये में होने वाला नी प्लांट सर्जरी 55 हजार रुपये में होगी। देश में हर साल 1 लाख से 1.50 तक लोग नी प्लांट सर्जरी करवाते हैं। सरकार के इस फैसले से मरीजों को हर साल तकरीबन 1500 करोड़ का फायदा होगा। इस सिलसिले में नेशनल फॉर्मा प्राइसिंग ऑथिरीटी ने आदेश जारी करते हुए इस तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है।

पांच तरह के नी प्लांट सर्जरी होते है... 

- भारत में सबसे ज्यादा कॉबर्ट नी ट्रांसप्लांट सर्जरी होता है। इसके लिए मरीजों से 1.5 से 2 लाख रुपये तक चार्ज किया जाता था इसे सरकार ने 54720 रूपया फिक्स कर दिया है। - दूसरे तरह के नी ट्रांसप्लांट का पहले 2.50 से 4 लाख रुपये चार्ज किया जाता था जिसे 76600 लाख तय किया गया है।  - तीसरे तरह यानी हाई हाई फैक्सीब्लीटी सर्जरी के दाम को 1 लाख रुपये से घटा कर 56490 कर दिया गया है। - चौथे तरह के नी प्लांट सर्जरी यानी रिविजन ट्रांसप्लान के दाम को 275000 से कम कर 113950 रुपये फिक्स कर दिया गया है। - पांचवें कटेगरी में स्पेस्लाइज्ड ट्रांसप्लांट आता है। पहले इसके लिए 4 लाख से 9 लाख रुपये तक चार्ज किया जाता था जिसे 113950 तय किया गया है।