रस्किन बॉन्ड को मिला 'लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड'

नई दिल्ली (26 नवंबर): जानेमाने लेखक रस्किन बॉन्ड को साहित्य के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड’ से नवाजा गया।

बॉन्ड ने कहा, ‘प्रकृति वास्तव में मुझ पर मेहरबान रही है। इसलिए मैं सोचता हूं कि इसका उत्सव मनाकर मैं उसे वह लौटा सकता हूं। मैं कोई सामाजिक कार्यकर्ता नहीं हूं, लेकिन मैं इसका जश्न अपने लेखन में मना सकता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘अपने बच्चों और उनके बच्चों के लिए हमें इस भूमंडल को बचाने की कोशिश करनी चाहिए।’

इस अवसर पर भावुक नजर आ रहे बॉन्ड ने कहा, ‘मैं निराशावादी नहीं हूं, इसलिए मैं नहीं कहूंगा कि जीवन 50 वर्षों में समाप्त हो जाएगा। मैं आशावादी हूं, इसलिए मैं कहूंगा कि जीवन 150 वर्षों में समाप्त हो सकता है।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने हमेशा से देखा है कि जब मैं प्रकृति की गोद में रहा हूं, बेहतर लिखा है। लोग मेरी कहानियों में हैं, जानवर मेरी कहानियों में हैं। जब मैं लोगों और पशुओं से दूर भागा हूं तो मैंने भूत-प्रेत की कहानियां लिखी हैं, लेकिन इन सब में प्रकृति का तत्व जरूर है।’