चलती ट्रेन में दलित महिला से रेप कर नीचे फेंका

राहुल कुमार, मऊ (18 सितंबर): मऊ जिले के काझा खुर्द के पास सुबह गांव के लोगों ने जब एक महिला के कराहने और चिल्लाने के आवाज सुनी तो उसके पास पहुंचकर सभी दंग रह गए। लोगों ने दिखा कि एक महिला निर्वस्त्र हाल में पड़ी है और उसका एक पैर कटा था।

लोगों को उसने बताया कि वह शाम को मायके औंणीहार से तमसा (55136) पेसेंजेर ट्रेन से चल शाहगंज जिला जौनपुर अपने घर जा रही थी कि ट्रेन में दो लोगों ने उसके साथ बलात्कार किया और उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया।

स्थानीय लोगों ने खुरहट रेलवे स्टेशन पहुंचाया, जहां उसका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा हैं। महिला को गंभीर हालत में उपचार के लिए मऊ जिला अस्पताल से वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया है। कयास लगाए जा रहा है कि महिला के साथ तमसा पैसेंजर ट्रेन में दुष्कर्म हुआ है, हालांकि इस मामले की पुष्टि अभी तक ना तो जीआरपी और ना ही जिला प्रशासन की ओर से की गई है।

डा. रूपेश राय ने बताया कि कुछ ग्रामीण लोगों के द्वारा एक महिला 108 से लाई गई है, जिसका नाम रीता है और उसकी उम्र 35 वर्ष है। उसका दाहिना पैर ट्रेन से कटा है, लेकिन गम्भीर हालत को देखते हुए जिला अस्पताल से वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया है।