बलात्कार के मामले में दाती महाराज को मिली अग्रिम जमानत

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जनवरी):  बलात्कार के आरोपों से घिरे दाती महाराज को दिल्ली की साकेत कोर्ट से बड़ी राहत देते हुए अग्रिम जमानत दे दी। हालांकि यह जमानत उन्हें सशर्त दी गई है. अब दाती महाराज के बिना कोर्ट की इजाजत दिल्ली से बाहर नहीं जा पाएंगे। साथ ही इस मामले की जांच में वो एजेंसियों के अनुसार सहयोग करेंगे,जब अधिकारी बुलाएंगे, उन्हें जांच में शामिल होने के लिए जाना होगा।

अदालत ने आगे की शर्तों में निर्देश दिया कि दाती महाराज किसी भी तरह से जांच को प्रभावित नहीं करेंगे, न ही सबूतों के साथ छेड़छाड़ करेंगे. वह गवाहों को प्रभावित भी नहीं करेंगे। कोर्ट की शर्तों के मुताबिक दाती महाराज किसी भी तरह से पीड़ित और उसके परिवार से संपर्क नहीं करेंगे। दाती महाराज ने अगर अपना पासपोर्ट भी कोर्ट में सरेंडर नहीं किया है तो उसे कोर्ट में जमा करना होगा।

बता दें कि इससे पहले साकेत कोर्ट दिल्ली पुलिस द्वारा तैयार की गई चार्जशीट पर भी सवाल खड़ा कर दिए थे।  इस मामले में अक्टूबर में पुलिस चार्जशीट दायर की थी लेकिन कोर्ट ने उस पर संज्ञान लेने से इनकार कर दिया था। साकेत कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की जांच पर भी सवाल उठाते हुए कहा था कि दिल्ली पुलिस ने सही तरीके से मामले में जांच नहीं की। हाई कोर्ट इस मामले की जांच सीबीआई को पहले ही सौंप चुका है। दाती महाराज और उनके 3 भाइयों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने रेप मामले में कुछ वक्त पहले ही चार्जशीट दायर की थी।

25 वर्षीय युवती ने आरोप लगाया था कि वह पिछले दस साल से दाती महाराज की अनुयायी है। दाती महाराज ने शनि धाम स्थित आश्रम में उसके व दो अन्य अनुयायी युवतियों के साथ बलात्कार किया। इस बाबत फतेहपुर बेरी थाने में शिकायत दी गई थी। पीड़िता का कहना था कि बलात्कार के बाद उसे जबरन उसके राजस्थान स्थित घर भेज दिया गया था। शुरुआत में यह मामला फतेहपुर बेरी थाने में दर्ज किया गया था। लेकिन बाद में मामले की जांच को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के सुपुर्द कर दिया गया था।