फतेहाबाद रेप कांड की जांच तेज, मुश्किल में सुभाष बराला के भतीजे और पोते

चंडीगढ़ (11 जुलाई): वर्णिका कुंडू मामले के बाद हरियाणा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के परिवार की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। फतेहाबाद रेप कांड में नाबालिग पीड़िता के सामने आने के बाद सुभाष बराला के भतीजे और पोते की मुश्किलें बढ़ गई है। पीड़िता का आरोप है कि सुभाष बराला का भतीजा और पोता उसे जबरन गाड़ी में डालकर ले गए थे, लेकिन पुलिस ने दबाव डालकर अपनी मर्जी से उनके साथ जाने की बात लिखवा ली थी।

वहीं अब हरियाणा के डीजीपी बलजीत सिंह संधू का कहना है कि पूरे मामले की जांच चल रही है। हाईकोर्ट ने पहले ही सारे मामले को लेकर पुलिस को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने के आदेश दिए हैं और पुलिस हाईकोर्ट के निर्देशों के मुताबिक समय पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि फतेहाबाद के एसपी को निर्देश दिए गए हैं कि वह मामले को लेकर जो भी जरूरी जांच बनती हो करें।

आपको बता दें कि 8 मई 2017 को बराला के पैतृक गांव बढ़ईखेड़ा से एक नाबालिग लड़की किडनैप हुई थी। ये आरोप बराला के पोते यानी उनके भतीजे के बेटे विक्रम उर्फ विक्की बराला पर लगे थे।