राम रहीम और फलाहारी के बाद रेप केस में यूपी से एक और बाबा गिरफ्तार

नई दिल्ली (27 सितंबर): आशाराम, बाबा राम रहीम और फलाहारी बाबा के बाद अब विश्वप्रसिद्ध चक्रतीर्थ नैमिषारण्य के कथित महंत सियाराम दास दुष्कर्म के आरोप में फंस गया है। सोमवार देर रात जिले के रामपुर कलां थाना क्षेत्र की एक युवती की शिकायत पर मिश्रिख कोतवाली पुलिस ने सियाराम दास व उसके स्कूलों की प्रबंधक के खिलाफ केस दर्ज किया। सियाराम दास को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि प्रबंधक फरार है। 

मिश्रिख के पुलिस क्षेत्राधिकारी राधारमण सिंह ने बताया कि बीती देर रात युवती ने यूपी डायल 100 पुलिस को मामले की सूचना दी। पुलिस तत्काल सियाराम दास को उसके आवास से युवती के साथ पकड़ कर मिश्रिख कोतवाली ले लाई। प्रथम दृष्टया युवती के आरोप सही पाए गए हैं। सियाराम दास व उसके स्कूलों की प्रबंधक रिंटू सिंह के खिलाफ कोतवाली में दुष्कर्म और एससी-एसटी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है। 

सीओ ने बताया कि बाबा सियाराम दास को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रबंधक रिंटू सिंह की तलाश की जा रही है। दूसरी ओर, सियाराम दास ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि उसने युवती को सोमवार रात लगभग 11 बजे कॉलेज से बाहर निकाल दिया था। इसके बाद युवती कहां गई, वह नहीं जानता। कई 

सियाराम दास मिश्रिख कस्बे में कक्षा आठ तक एक इंग्लिश मीडियम स्कूल, एक इंटर कॉलेज और एक लॉ कॉलेज चला रहा है। लॉ कॉलेज का भव्य उद्घाटन सन 2015 में हुआ था। महंत एक डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी कर रहा था। 

बाबा सियाराम दास का नाम पहले से ही चर्चा में है। उसका रसूख लखनऊ से लेकर आगरा, हाथरस और बाराबंकी तक फैला है। करोड़ों रुपये की सम्पत्ति के मामले में बाबा विवाद में पहले भी आ चुके हैं। फिलहाल पुलिस को उस स्थान की तलाश है, जहां पर कई माह रख कर युवती का शोषण किया गया था। पुलिस कप्तान मृगेन्द्र सिंह कहते हैं कि एक टीम आगरा भी भेजी जा रही है, क्योंकि पीड़िता ने अपने बयान में यह बताया है कि उसे आगरा में बंधक बनाकर रखा गया। 

जानकार बताते हैं कि सियाराम दास ने आगरा में लॉ कालेज बना रखा है। दो वर्ष पूर्व हाथरस में सम्पत्ति का विवाद हुआ। वहां आश्रम की जमीन को लेकर बवाल कई सप्ताह तक चला। अंत में उसका ऊंचा रसूख काम आया। फिलहाल पुलिस अकूत सम्पत्ति और बाबा से जुड़े कॉकस को भी खंगाल रही है।