"मैं अधिकतर बेवकूफ़ बने रहता हूं क्योंकि वही पसंद किए जाते हैं"

नई दिल्ली (10 मई) :  रणवीर सिंह के ब्रैंड को 'बाजीराव मस्तानी' ने बॉलिवुड में वो मकाम दे दिया, जिसकी हर स्टार ख्वाहिश रखता है। लेकिन रणवीर सिंह का स्ट्रग्लर से स्टारडम का ये सफ़र आसान नहीं रहा। बकौल रणवीर इसके लिए उन्हें बहुत से पापड़ बेलने पड़े।

रणवीर ने फिल्मफेयर मैगजीन को हाल मे दिए इंटरव्यू में ऐसी कई बातों का खुलासा किया, जिसका उन्होंने पहले कभी ज़िक्र नहीं किया था।

रणवीर ने कहा कि मैंने ज़िंदगी के कुछ सख्त अनुभव हासिल किए। ये सब आसान नहीं था। मुझे लंबी भावनात्मक परेशानियों से गुज़रना पड़ा। मेरा मखौल उड़ाया गया। नस्लवाद का सामना किया। अपमान सहा।

रणवीर ने कहा, "संवेदनशील होना अच्छा होता है लेकिन साथ ही ये आपको 'बड़ी और खराब दुनिया' की दया पर छोड़ देता है। मैं अतिवादी हूं इसलिए मेरी भावनाएं भी अतिवादी हैं।"

रणवीर ने कहा. "मेरा स्वभाव एक तरह से डिफेंस मैकेन्जिम वाला है। मेरी ज़रूरत है कि मैं पसंद किया जाऊं। मैं अधिकतर समय अपनी इंटेलीजेंस छुपा लेता हूं।  ज्यादा वक्त मैं 'बेवकूफ़' बने रहता हूं क्योंकि 'बेवकूफ' अधिक पसंद किए जाते हैं  और कनेक्टेबल होते हैं।"