रैनसमवेयर अटैक: सरकार ने अपग्रेड किए 50 लाख सिस्टम


नई दिल्ली(16 मई): रैनसमवेयर 'वानाक्राई' दुनिया के 150 से ज्यादा देशों में पहुंच चुका है। इस बीच, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सोमवार को बैंकों को अलर्ट जारी कर कहा कि वे एटीएम का साफ्टवेटर अपडेट रखें, क्योंकि रैनसमवेयर ने दुनिया भर में पेमेंट सिस्टम पर हमला किया है।


- इधर, सरकार ने सरकार ने 50 सिस्टम को अपग्रेड कर दिया है, साथ ही सेंसेटिव मिनिस्ट्रीज में ऑफिसर्स को स्टैंडअलाेन कंप्यूटर पर काम करने की सलाह दी है।


- रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत में ज्यादातर ATMs माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के पुराने वर्जन पर चल रहे हैं और ऐसे साइबर हमलों के लिए बेहद असुरक्षित हैं। देश में कुल 2.2 लाख एटीएम हैं और अधिकतर में पुराने वर्जन विंडोज XP का इस्तेमाल हो जा रहा है।


- आरबीआई ने बैंकों से गवर्नमेंट ऑर्गनाइजेशन CERT-In (इंडियन कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम) के इंस्ट्रक्शन फॉलो करने को कहा है।


- रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत में करीब 70% एटीएम में आउटडेटेड सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल हो रहा है। इसलिए इन्हें निशाना बनाना ज्यादा आसान है। विंडोज XP रैनसमवेयर से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। भारत में 70% एटीएम में यही है। हालांकि अटैक के बाद माइक्रोसॉफ्ट ने एक्सपी की सुरक्षा के पैच भी जारी किए हैं।


- रैनसमवेयर वायरस एटीएम को मेंटेनेंस मोड में ले जाता है और नोटों को बाहर करने पर मजबूर कर देता है। दुनिया की सबसे बड़ी एटीएम मेकर एनसीआर कॉर्प ने एक महीने पहले ही भारतीय बैंकों को इस खतरनाक वायरस के बारे में चेतावनी दी थी।


- महाराष्ट्र में पुलिस विभाग के साथ-साथ दूसरे इंस्टीट्यूट्स के कुछ कम्प्यूटरों में भी रैनसमवेयर अटैक की सूचना है। केरल के वायनाड़ में पंचायत दफ्तर के 4 कम्प्यूटर्स और वेस्ट बंगाल के वेस्ट मिदनापुर में भी 4 जगहों पर स्टेट इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के कम्प्यूटर्स में इस वायरस के अटैक की खबर है।


- केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने साइबर अटैक पर कहा कि भारत पर कोई विशेष असर नहीं पड़ा है। कुछ मामले हैं, उनकी पड़ताल कर रहे हैं। बाकी निगरानी चल रही है।