10 लाख से ज्यादा रैंक वालों को भी मिल रहा है NIT में एडमिशन

नई दिल्ली(24 जुलाई): इस साल आईआईटी और एनआईटी सिस्टम के लिए चल रही काउंसलिंग में जेईई मेन्स में 10,74,213वीं रैंक हासिल करने वाले स्टूडेंट को भी एनआईटी मिजोरम की सिविल ब्रांच में एडमिशन मिल गया। इसकी वजह कई स्टूडेंट्स का काउंसलिंग में हिस्सा नहीं लेना है। 

करीब 11 लाख स्टूडेंट्स ने ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में जेईई मेन्स दिया था। रिजल्ट के बाद भी ज्वॉइंट सीट अलाेकेशन बोर्ड (जोसा) की आेर से की जाने वाली काउंसलिंग में सभी स्टूडेंट्स को भाग लेने के लिए एलिजिबल कर दिया गया।

इसके बावजूद 11 लाख में सिर्फ डेढ़ लाख स्टूडेंट्स ने ही ऑनलाइन काउंसलिंग में हिस्सा लिया। जोसा की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 26 जून तक 1,27,173 स्टूडेंट्स ने काउंसलिंग में भाग लिया था। काउंसलिंग में कॉलेज का ऑप्शन भरने की आखिरी तारीख 29 जून थी। मतलब आईआईटी और एनआईटी में एडमिशन लेने की दौड़ 11 लाख से शुरू हुई और आखिर तक आते आते डेढ़ लाख में ही सिमट गई।