गुजरात ने मुंबई को 5 विकेट से हराकर किया रणजी ट्रॉफी पर कब्जा

इंदौर(14 जनवरी): 82 साल के इतिहास में गुजरात पहली बार रणजी चैंपियन बना। इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही मुंबई को गुजरात ने 5 विकेट से मात दी। गुजरात की इस ऐतिहासिक जीत के हीरो रहे 31 साल के पार्थिव पटेल जिन्होंने मुंबई के गेंदबाजों पर खूब हल्ला बोला।चौथी पारी में मुंबई ने गुजरात के सामने जीत के लिए 312 रनों का लक्ष्य रखा था। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक गुजरात ने बिना किसी नुकसान के 47 रन बना लिए थे। आखिरी दिन गुजरात को जीत के लिए 265 रनों की दरकार थी और गुजरात की टीम को एतिहासिक जीत दिलाने का जिम्मा संभाला पार्थिव पटेल ने। हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले पार्थिव ने रणजी फाइनल के आखिरी दिन शानदार शतक जड़ा।पार्थिव पटेल ने दूसरी पारी में 143 रन की तेज पारी खेली। इससे पहले पहली पारी में भी वो 90 रन जड़ चुके थे। पार्थिव की इस विराट पारी के बाद गुजरात की जीत महज औपचारिकता ही रह गई थी। जिसे अंत में चिराग गंधी ने इस शॉट से पूरा कर लिया और गुजरात को पहली बार रणजी चैंपियन भी बना दिया। गुजरात ने 5 विकेट खोकर आखिरी दिन 313 रन बनाकर जीत हासिल की।मुंबई की टीम इससे पहले 41 बार रणजी चैंपियन बन चुकी है, लेकिन 42वीं बार ये खिताब जीतने से उन्हें गुजरात ने रोक दिया। पार्थिव पटेल को उनकी शानदार बल्लेबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।