पुजारा ने रांची में रचा इतिहास, 13 साल बाद किसी भारतीय ने खेली ऐसी पारी

नई दिल्ली(19 मार्च): भारत के चेतेश्वर पुजारा ने रविवार को रांची में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में इतिहास रचा। पुजारा ने इस दौरान अपनी सबसे लंबी पारी (गेंदों का सामना करने के लिहाज से) खेली।


- पुजारा ने जैसे ही पारी के 149वें ओवर में नाथन लियोन की पांचवीं गेंद को खेला, उन्होंने यह खास मुकाम हा‍सिल किया।


- यह उनकी इस पारी की 390वीं गेंद थी और उन्होंने अहमदाबाद में नवंबर 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ खेली अपनी मैराथन पारी को पीछे छोड़ दिया। पुजारा ने उस वक्त 389 गेंदों का सामना कर नाबाद 204 रन बनाए थे।


- रांची टेस्ट में टीम इंडिया संघर्ष कर रही थी, जिसके चलते पुजारा ने एक छोर थामे रखा और विकेटों की पतझड़ को रोका। इसके चलते वे अपने पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने के दौरान मात्र 149 रन बना पाए थे।


- वैसे उन्होंने इसकी अगली ही गेंद पर एक रन लेकर अपने 150 रन पूरे किए। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में पांचवीं बार 150 रनों का आंकड़ा छुआ था।


- किसी भारतीय बल्लेबाज का टेस्ट पारी में 400 से ज्यादा गेंद खेलने का मौका 13 साल बाद आया।


- भारत की तरफ से किसी टेस्ट पारी में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना करने का रिकॉर्ड राहुल द्रविड़ के नाम पर है जब उन्होंने अप्रैल 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ 495 गेंदों का सामना किया था। उन्होंने इस पारी के दौरान 270 रन बनाए थे।