नामांकन के बाद बोले रामनाथ कोविंद- संविधान की सर्वोच्चता बनाए रखना जिम्मेदारी


नई दिल्ली(23 जून): NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने संसद भवन में अपना नामांकन भर दिया है। इस दौरान कोविंद के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद रहे। कोविंद के नामांकन में कुल 480 प्रस्तावक बने, पीएम मोदी, लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी कोविंद के प्रस्तावक बने।


- नामांकन दाखिल करने के बाद रामनाथ कोविंद ने कहा कि राष्ट्रपति का पद लोकतंत्र का सबसे गरिमामय पद है। उन्होंने कहा कि समर्थन करने वाले सभी दलों का आभार व्यक्त करता हूंय़।


- उन्होंने कहा कि हमारे देश में संविधान सर्वोपरि है और इसकी गरिमा बनाई रखना हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति का पद दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए।


- कोविंद बोले कि कुछ ही वर्षों में हम आजादी के 75 साल पूरे होंगे इसके लिए हमें अभी से तैयार होना होगा। उन्होंने कहा कि मैं सभी को विश्वास दिलाता हूं कि मैं इस पद की गरिमा बनाए रखने का हर संभव प्रयास करुंगा।