खुदकुशी नहीं, सरहद पर जान कुर्बान करने वाले होते हैं शहीद- सीएम खट्टर

चंडीगढ़ (3 नवंबर): पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल की खुदकुशी पर सियासत और बयानबाजी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस आरोप-प्रत्यारोप में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी कूद पड़े हैं। मुख्यमंत्री खट्टर ने पूर्व सैनिक रामकिशन की खुदकुशी पर कहा कि शहीद वे होते हैं जो सीमा पर अपनी जान कुर्बान करते हैं, वे नहीं जो आत्महत्या करते हैं।

आपको बता दें की वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर बुधवार को सेना से रिटायर सूबेदार रामकिशन ने दिल्ली के जंतर मंतर पर सल्फास खाकर खुदकुशी कर ली थी। रामकिशन हरियाणा के भिवान के रहने वाले थे। रामकिशन ग्रेवाल की अंतिम संस्कार में शामिल होने उनके गांव पहुंचे सूबे के मंत्री कृष्ण लाल पंवर ने पीड़ित परिवार को 10 लाख की आर्थिक मदद और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का ऐलाना किया। आपको बतादें कि रामकिशन की खुदकुशी के बाद से ही वन रैंक वन पेंशन पर सियासत तेज हो गई है।

ramkishan-sucide-cm-khattar