'बांग्लादेश इस्लामी देश, अगर यहां अपने धर्म का उपदेश चालू रखा तो 20-30 तारीख के बीच...'

नई दिल्ली (16 जून): बांग्लादेश में संदिग्ध मुस्लिमों ने रामकृष्ण मठ के हिंदू उपदेशक को मारने की धमकी दी है, अगर वह अभी भी 'इस्लामी बांग्लादेश' में उपदेश देना बंद नहीं करता। धमकी देने वाले कथित तौर पर आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के समर्थक बताए जा रहे हैं। इसके चलते इलाके की सुरक्षा चाकचौबंद की गई है।

'हिंदुस्तान टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, शहर के वारी पुलिस स्टेशन के ड्यूटी ऑफिसर ने बताया, "रामकृष्ण मिशन की सुरक्षा को मजबूत किया गया है। उपदेशक ने इसकी शिकायत दर्ज कराई है।"

हालांकि, ऑफिसर ने उपदेशक के नाम का खुलासा नहीं किया है। मिशन के अधिकारी भी तुरंत कमेंट्स के लिए उपलब्ध नहीं थे। लेकिन पुलिस ने कहा कि उन्हें बीती शाम को धमकी भरी चिट्ठी मिली। जो कम्प्यूटर से तैयार आईएस के लेटरहैड पर थी। 

इस चिट्ठी में लिखा है, "बांग्लादेश एक इस्लामिक देश है। तुम अपने धर्म का यहां उपदेश नहीं दे सकते। अगर तुम उपदेश देना जारी रखते हो। तो तुम्हें चाकुओं से 20 से 30 तारीख के बीच गोदकर मार डाला जाएगा।" 

चिट्ठी में कोई महीना नहीं लिखा गया है। बुधवार शाम को गणित के एक 50 वर्षीय हिंदू लेक्चरर को जानलेवा हथियारों से हमला कर मार डाला गया। हमलावरों ने दक्षिण पश्चिम बांग्लादेश के मदारीपुर में उनके घर में घुसकर उनकी हत्या की थी।