'छह दिसम्बर 2018 से पहले अयोध्या में राम मंदिर बन जायेगा'

नई दिल्ली (29 जनवरी): चित्रकूट के तुलसी पीठाधीश्वर व प्रख्यात रामकथा मर्मज्ञ जगदगुरु रामभद्राचार्य ने कहा है कि अयोध्या स्थित राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण नहीं बल्कि उसका जीर्णोद्धार शेष है और यह छह दिसम्बर 2018 तक पूरा हो जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि जीर्णोद्धार 2016  में ही किसी दिन शुरु होगा। राम भद्राचार्य के इस बयान पर अभी तक किसी अन्य किसी पक्ष का बयान नहीं आया लेकिन विपक्ष का हंगामा जरूर करेगा।

जब राम भद्राचार्य राम मंदिर के बारे में घोषणा कर रहे थे उस वक्त राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास भी वहां मौजूद थे। राम भद्राचार्य ने कहा कि अयोध्या में मेक शिफ्ट स्ट्रक्चर के रूप में रामलला के लिए मंदिर का निर्माण तो हो ही चुका है। अब सिर्फ इसके जीर्णोद्धार की जरूरत है, जो जल्द शुरू हो जायेगा। जगदगुरु रामभद्राचार्य ने बताया कि मंदिर निर्माण कार्य वर्ष 2016 में शुरू होकर छह दिसंबर वर्ष 2018 तक पूरा हो जाएगा। उन्होंने राम मंदिर आन्दोलन में अहम भूमिका निभाने वाले परमहंस रामचंद्र दास और अशोक सिंघल की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि दोनों नेता  अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का सपना संजोए चले गए लेकिन अब उनका सपना पूरा होने का वक्त आ गया है।