''सिरसा डेरे में नहीं दाखिल हुई सेना, राम रहीम को नहीं मिल रहा VIP ट्रीटमेंट''


सिरसा (26 अगस्त):
हरियाणा के सिरसा में राम रहीम के अड्डे को खाली करने के लिए पुलिस और रैपीड एक्शन फोर्स की कार्रवाई जारी है। पुलिस डेरा ने निकलने वाले राम रहीम के समर्थकों की सघन जांच कर रही है। उनकी तलाशी ली जा रही है। इधर सेना के जवानों ने भी सिरसा शहर में में कमान संभाल रखा है। हालांकि सेना का कहना है कि वो राम रहीम के डेरे में दाखिल नहीं हुई है।

शुक्रवार को डेरा समर्थकों के हंगामे के बाद हरियाणा सरकार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राम रहीम को VIP ट्रीटमेंट देने के आरोपों पर सफाई दी है। मुख्य सचिव डीएस डेसी ने कहा है कि राम रहीम को VIP ट्रीटमेंट नहीं दिया गया है। डीएस डेसी ने सिरसा में डेरा मुख्यालय में सेना के घुसने की खबरों का भी खंडन किया। उन्होंने ये भी कहा कि जो लोग शुक्रवार की हिंसा में मारे गए हैं, वो स्थानीय नहीं थे।

मुख्य सचिव ने कहा, 'ऑपरेशन के दौरान पंचकुला कोर्ट से कुछ दूरी पर डेरा समर्थक की गाड़ी से एक AK-47 एक माउज़र, दूसरी गाड़ी से 1 पिस्तौल और पांच राइफल बरामद की गई है। वहीं हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने बताया कि कुछ डेरा समर्थकों पर देशद्रोह के दो मामले दर्ज किए गए हैं और हिंसा के बाद 524 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही संधू ने कहा कि सजा सुनाए जाने से पहले पूरे प्रदेश में शांति थी।

डीजीपी ने ये भी कहा कि राम रहीम को पंचकूला लाने की जिम्मेदारी पुलिस की नहीं थी, वो खुद ही इतना बड़ा काफिला लेकर आ रहे थे। हालांकि कोर्ट परिसर में राम रहीम की पांच ही गाड़ियां पहुंची थी।