राम रहीम केस: रात में डेरा समर्थकों से खाली कराया जाएगा पंचकुला- DGP

चंडीगढ़ (24 अगस्त): हरियाणा के डीजीपी ने बड़ा बयान दिया है। आज रात भर में पंचकुला को डेर सच्चा सौदा के समर्थकों से खाली करवाया जाएगा। गुरुमीत राम रहीम के समर्थकों को शहर से बाहर किया जाएगा। यहां आधी रात को सेना का फ्लैग मार्च होगा। 

आपको बता दें कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम रेप केस मामले में कल फैसला आने वाला है। इस फैसले से पहले पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राज्य और केंद्र सरकार के साथ-साथ पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट भी चिंतित नजर आ रहा है। इन सबके बीच फैसला आने से पहले पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार और केंद्र सरकार को कड़ी फटकार लगाई है। कोर्ट ने हरियाणा सरकार को आदेश दिया है कि वह केंद्र की मदद से राम रहीम के समर्थकों को वापस जाने के लिए कहे। कोर्ट ने डेरा को भी आदेश दिया कि वह अपने समर्थकों को वापस जाने के लिए कहे। वहीं दूसरी ओर सेना को भी अलर्ट पर रखा गया है।

वहीं केंद्र सरकार ने सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट से कहा कि स्थिति नियंत्रण में है और सेना को स्टैंडबाई पर रखा गया है। वहीं अर्ध सैनिक बलों की 50 और कंपनियां आज रात तक मौके पर पहुंच जाएगी। चंडीगढ़, हरियाणा और पंजाब में पैरामिलिट्री फॉर्सेज की 167 कंपनिया तैनात हैं और 10 की और मांग की गई है। एक कंपनी में 100 जवान और अफसर हैं। हर कंपनी में करीब 35 गन और बाकी नॉन लीथल गन होती हैं। नॉन लीथल गन में डंडा,  टियर गैस , मिट्टी वाला ग्रेनेड, वाटर कैनन जैसे हथियार आते हैं। हर कंपनी में महिलाएं भी तैनात की गई हैं। चंडीगढ़ में 10 कंपनियां तैनात की गई हैं। इनमें 6 कंपनियां रैपिड एक्शन फोर्स की हैं।

इनमें कुल 97 कंपनियां CRPF की हैं। इस 97 कंपनियों मे से CRPF की 4 महिला कंपनी हैं जो पंजाब और हरियाणा में तैनात की गई हैं साथ ही,16 RAF की कंपनी भी शामिल हैं। 37 कंपनियां SSB की पंजाब और हरियाणा में हैं। 12 कंपनियां ITBP की भी पंजाब और हरियाणा में हैं। 21 कंपनियां BSF की पंजाब और हरियाणा में तैनात की गई है।

चंडीगढ़ और पंचकुला में राम रहीम के समर्थकों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए पंजाब और हरियाणा की सीमाएं सील कर दी गई हैं। वही उत्तर रेलवे ने आज 6 और शुक्रवार को पंजाब की ओर जाने वाली 28 ट्रेनें रद्द कर दी हैं। फतेहाबाद से सिरसा जाने वाली रोडवेज बस सर्विस और सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पंजाब और हरियाणा सरकार ने संयुक्त फैसले में 72 घंटे के लिए मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद कर दी है।