राम रहीम केस: हिंसा से निपटने के लिए सरकार तैयार, अर्धसैनिक बलों की 167 कंपनिया तैनात

चंडीगढ़ (24 अगस्त): डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम रेप केस मामले में कल पंचकुला CBI कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा। लेकिन इससे पहले चंडीगढ़ से लेकर पंचकुला तक भारी तादाद में उनके अनुआई इकट्ठा हो गए हैं। किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह से हाईअलर्ट पर है और हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ में कई जगहों पर कर्फ्यू जैसे हालात हैं। 

चंडीगढ़, हरियाणा और पंजाब में पैरामिलिट्री फॉर्सेज की 167 कंपनिया तैनात हैं और 10 की और मांग की गई है। एक कंपनी में 100 जवान और अफसर हैं। हर कंपनी में करीब 35 गन और बाकी नॉन लीथल गन होती हैं। नॉन लीथल गन में डंडा,  टियर गैस , मिट्टी वाला ग्रेनेड, वाटर कैनन जैसे हथियार आते हैं। हर कंपनी में महिलाएं भी तैनात की गई हैं। चंडीगढ़ में 10 कंपनियां तैनात की गई हैं। इनमें 6 कंपनियां रैपिड एक्शन फोर्स की हैं।

इनमें कुल 97 कंपनियां CRPF की हैं। इस 97 कंपनियों मे से CRPF की 4 महिला कंपनी हैं जो पंजाब और हरियाणा में तैनात की गई हैं साथ ही,16 RAF की कंपनी भी शामिल हैं। 37 कंपनियां SSB की पंजाब और हरियाणा में हैं। 12 कंपनियां ITBP की भी पंजाब और हरियाणा में हैं। 21 कंपनियां BSF की पंजाब और हरियाणा में तैनात की गई है।

40 कंपनियां  रिज़र्व रखी गई हैं। आपात हालात से निपटने के लिए पंचकुला में यहीं से जवान भेजे गए हैं। हरियाणा में 35 कंपनियां तैनात हैं। पंजाब में 75 कंपनियां तैनात हैं। वहीं सेना को तैनात करने पर अभी कोई फैसला नहीं किया गया है। प्रशासन सेना के संपर्क में है और हर हालात की जानकारी दी जाएगी।  फिलहाल पंचकुला में दो लाख से ज्यादा डेरा समर्थक आ चुके हैं। पंचकुला के बाहर डेरा में 40 से 50 हज़ार समर्थक जमा हैं। दो से तीन दिन का रेडीमेड खाना लेकर आए हैं। 

इस सबके बीच गुरमीत राम रहीम ने फेसबुक और ट्विटर के जरिए लिखा है कि हमने सदा कानून का सम्मान किया है, हालांकि हमारी बैक में दर्द है, फिर भी कानून की पालना करते हुए हम कोर्ट ज़रूर जाएंगे। हमें भगवान पर दृढ़ यकीन है। सभी शांति बनाए रखें.।