राम रहीम पर जयपुर की महिला को भी गायब करने का है आरोप, 7 सितंबर को होगा बयान दर्ज

नई दिल्ली ( 25 अगस्त ): साध्वी से यौन शोषण के आरोप में सीबीआई कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए गए गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ जयपुर की एक महिला अनुयायी को भी बहला-फुसलाकर गायब करने का आरोप लग चुका है। जयपुर के जवाहर सर्किल पुलिस थाने में यह मामला दर्ज हुआ था।

दो साल पहले जयपुर की एक अदालत में एक महिला की गुमशुदगी के मामले में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम के खिलाफ पुलिस को मामला दर्ज करने का आदेश दिया था जिस पर अब 7 सितम्बर को बयान दर्ज होने हैं।

इस मामले के बारे मे महिला के पति शहर की मनोहरपुरा कच्ची बस्ती निवासी कमलेश कुमार ने कोर्ट में इस्तगासा दायर कर आरोप लगाया था कि डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने उनकी पत्नी गुड्डी को बहला फुसलकर गायब कर दिया। वह कई बार पत्नी को तलाशने पंचकूला स्थित डेरे पर पत्नी को तलाशने गया, लेकिन वह नहीं मिली।

सुनवाई के बाद कोर्ट ने पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे, इसमें राम रहीम पर आरोप लगाए गए थे। आरोप ये था कि गुड्डी 24 मार्च 2015 को सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा जाने के लिए जयपुर से ट्रेन से गई, वहां से एक सेवादार उसे राम रहीम के पास लेकर गया था, इसके बाद से उसके बारे में कोई सूचना नहीं है। इस बारे में पूछने पर शुक्रवार को पुलिस अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुए।

आरोप है की जयपुर की एक महिला को संत राम रहीम ने अपने पास बुलाया था और उसके बाद से लापता हुवे इस महिला का कोई अत पता नहीं है। इस मामले पर करीब दो साल बाद अब 7 सितम्बर को गवाहों और शिकायतकर्ता के बयान दर्ज होने हैं। मामले से जुड़े लोगों का मानना है की रसुक के चलते जिस मामले की जांच में ढिलाई हुवी अब पंचकुला की अदालत के फैसले के बाद उन्हें भी जल्द इन्साफ मिलने की उम्मीद है।