नोटबंदी पर बोले राम नाईक, 'जनता देखती है, सहन करती है और फिर फैसला करती है'

मुंबई (16 दिसंबर): नोटबंदी का आज 38वां दिन है, लेकिन आज भी कैश के लिए लोग परेशान हैं। बैंक और एटीएम के बाहर लोगों की भारी भीड़ लगी है, फिर भी लोगों को पैसे नहीं मिल पा रहे हैं। इस मुद्दे को लेकर विपक्ष ही नहीं सरकार की सहयोगी पार्टी शिवसेना और अकाली दल भी सरकार से नाराज नजर आ रही है।

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने भी नोटबंदी से लोगों को हो रही परेशानी पर चिंता जाहिर की है। मुंबई में एक कार्यक्रम में पहुंचे राम नाईक ने कहा कि 'जनता देखती है , जनता सहन करती है, जनता सहन करने के बाद अपना निर्णय करती है , जनता निर्णय करेगी।'

उन्होंने कहा कि सही बात है कि लोगों को कठिनाई हो रही है,परेशानी हो रही है। लोगों की तकलीफ को दूर करना सरकार का दायित्व है और जल्द ही लोगों की तकलीफ दूर होगी।

साथ ही राम नाईक ने पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि यह बहुत गंभीर बीमारी थी और ऐसी बीमारी पर ऑपरेशन करना जरुरी था। पीएम मोदी का नोटबंदी का ये फैसला देश हित में लिया गया है।