जमीन के बदले सुन्नी वक्फ बोर्ड को 20 करोड़ ऑफर से निर्मोही अखाड़ा का इनकार

नई दिल्ली (16 नवंबर): बातचीत के जरिए अयोध्या राम मंदिर विवाद को सुलझाने की कोशिशों के बीच इसे बड़ा झटका लग सकता है। एक चैनल के स्टिंग में दावा किया जा रहा है कि राम मंदिर मुद्दे पर पक्षकार निर्मोही अखाड़े के महंत दिनेंद्र दास ने समझौते के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को 1 करोड़ रुपए से लेकर 20 करोड़ रुपए तक दिए जाने बात कर रहे हैं। हालांकि कुछ ही देर में निर्मोही अखाड़ा इस दावे से पलट गया। महंत दिनेंद्र दास ने पैसे के ऑफर का खंडन करते हुए कहा कि ये आरोप गलत है।

इससे पहले वो एक स्टिंग में कहते हुए दिख रहे हैं कि लोगों की आपस में बातचीत हुई है कि वहां पर मंदिर बने, वहां मंदिर बन गया। मस्जिद का मामला है तो वहां पर अपनी जमीन है विद्या कुंद के पास वहां पर जमीन दे दी जाएगी। उन्होंने कहा कि 1 करोड़, 2 करोड़, 10 करोड़, 20 करोड़... जैसे उनकी खुशी से मंदिर बन जाए।

स्टिंग में महंत दिनेंद्र दास यह भी कहते हुए देखे जा सकते हैं कि सुन्नी वक्फ बोर्ड से बात की जाएगी और मुकदमे में खर्च पैसे भी दिए जाएंगे।