अहमद पटेल की सीट पर फंसा है पेंच, जानें अबतक क्या-क्या हुआ ?

नई दिल्ली (8 अगस्त): गुजरात राज्यसभा चुनाव की लड़ाई चुनाव आयोग पहुंच चुकी है। राज्यसभा चुनाव के लिए आज शाम 4 बजे वोटिंग खत्म हो गई थी। लेकिन अबतक वोटों की गिनती शुरू नहीं हो सकी है। बीजेपी और कांग्रेस की ये लड़ाई अहमद पटेल की सीट को लेकर है। चुनाव में क्रॉस वोटिंग को लेकर दो विधायकों के मत रद्द करने की मांग को लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद कांग्रेस और बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल तीन-तीन बार चुनाव आयोग पहुंच चुके हैं।

कांग्रेस ने इस मामले में वीडियो फुटेज देखने का अनुरोध किया था जिसके बाद चुनाव आयोग ने इन फुटेज को मंगवाया है। चुनाव आयोग वीडियो फुटेज देखने के बाद फैसला लेगा। इस बीच दोनों पार्टियों की तरफ से दिग्गजों का चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात का सिलसिला जारी है।

राज्य में कुल 176 विधायकों ने अपना वोट डाला। मतदान के बाद कांग्रेस और भाजपा दोनों ही अपने-अपने उम्मीदवार की जीत का दावा कर रही है। हालांकि मतदान के दौरान कांग्रेस को बड़े झटके लगे जब वाघेला और उनके समर्थकों के अलावा बेंगलुरू रिजॉर्ट में रहे एक विधायक ने भाजपा को अपना वोट दे दिया।

मतगणना में इस वजह से देरी हो रही है क्योंकि कांग्रेस ने दो बागी विधायकों के मत खारिज करने की चुनाव आयोग से अपील की, क्योंकि इन्होंने वोट डालने के बाद बैलेट पेपर अमित शाह को दिखाया था। कांग्रेस ने यह आरोप राघव पटेल और भोला भाई पर लगाया था।

कांग्रेस नेता और गुजरात के प्रभारी अशोक गेहलोत ने कहा है कि क्रॉस वोटिंग करने वालों के खिलाफ पार्टी कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि पटेल निश्चित तौर पर जीत रहे हैं।

खबरों के अनुसार मतदान के दौरान रिजॉर्ट में रुके 44 विधायकों में से एक विधायक करम सिंह मकवाड़ा ने क्रॉस वोटिंग करते हुए पटेल के खिलाफ मतदान किया है। इससे पहले पिछले दिनों कांग्रेस छोड़ चुके शंकरसिंह वाघेला भी मतदान करने पहुंचे और मतदान के बाद साफ कहा कि मैंने अहमद पटेल को वोट नहीं दिया है इसलिए वो जीत नहीं पाएंगे।