वसुंधरा सरकार का नया विवादित बिल, 2 साल तक के बछड़ों को खरीदा और बेचा जा सकेगा

केजे श्रीवत्सन, जयपुर ( 13 दिसंबर): देश में गोतस्करों और गोरक्षकों के बीच चल रहे खूनी खेल के बीच राजस्थान सरकार एक नया विवादित बिल लाने जा रही है। इस बिल के बाद अब निर्यात के लिए 3 साल की जगह 2 साल के बछडों का भी​ निर्यात किया जा सकेगा। राजस्थान सरकार के इस बिल में 3 साल के बछड़े की बजाए अब 2 साल के बछड़ों को खरीदने-बेचने की सरकार ने अनुमति दे दी है। हालांकि इस नियम का उल्लंघन करते पाए जानें पर आरोपियों से सभी सरकारी सुविधाएं लिए जाने और जेल की बड़ी सजा का भी प्रावधान किया गया है।  

राजस्थान सरकार पशुपालन विभाग के राजस्थान गोवंशीय पशु वध का प्रतिषेध और अस्थायी प्रवर्जन या निर्यात का विनियमन अधिनियम-1995 में संशोधन करने जा रही है। इसके प्रारूप को मंजूरी के लिए विधि विभाग को भेज भी दिया है। केबिनेट ने भी इसे मंजूरी दे दी है। इस बिल में संशोधन के बाद राजस्थान में 3 साल के बजाए 2 साल के बछडों को निर्यात भी किया जा सकेगा। अब तक इस कानून तहत 3 साल या उस अधिक के बछड़ों का ही निर्यात किया जा सकता था। 

हालांकि इसके लिए यह भी व्यवस्था की गई है कि निर्यात से पहले बछड़ को निर्यात करने का सरकारी आदेश भी लेना होगा। कानून को लेकर किसी तरह का विवाद नहीं हो। इसकी वजह से सरकार ने संशोधित कानून में गोवंश तस्करी में प्रयुक्त वाहन को जब्त करने और आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार किए जाने के प्रावधान को भी जोड़ा है।