राजनाथ ने की ममता-केसरीनाथ से बातचीत, सयंम बरतने को कहा

नई दिल्ली (5 जुलाई): पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी विवाद को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दोनों से बात की है। राजनाथ ने दोनों से फोन पर बात करते हुए उनसे सयंम बरतने का आग्रह किया।

इसी के साथ गृह मंत्री ने गवर्नर और मुख्यमंत्री दोनों से सार्वजनिक तौर पर किसी भी तरह के भद्दे बयानबाज़ी से खुद को दूर रखने और उच्च पदों का सम्मान करने की सलाह दी। राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय उत्तर 24 परगना जिले के बसीरहाट में कानून व्यवस्था को सामान्य करने में शामिल है और किसी भी तरह की लापरवाही का मुद्दा शांति बहाली के बाद ही उठाया जाएगा।

झगड़ा क्या है?

दरअसल, फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई। इसे लेकर राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने सीएम ममता को फोन किया, इस बातचीत के दौरान गवर्नर ने सीएम से जो बात कही उसे ममता भड़की हुई हैं।

ममता बनर्जी ने कहा कि गवर्नर ने उन्हें धमकाया जिससे वो अपमानित महसूस कर रही हैं। ममता ने मीडिया से कहा कि गवर्नर उनसे इस तरह बात नहीं कर सकते, जबकि गवर्नर ने सीएम के इस बयान पर हैरानी जताई।

ममता के बयान के बाद राज्यपाल ने अपनी सफाई दी। केसरीनाथ त्रिपाठी ने कहा कि वो मुख्यमंत्री के रवैये और 

इस्तेमाल की गई भाषा से हैरान हैं। उन्होंने कहा कि उनके और सीएम के बीच कोई भी बातचीत गोपनीय थी और किसी भी तरफ से इसे जाहिर करने की उम्मीद नहीं की जा सकती।

कहां हुई है हिंसा?

फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर उत्तर 24 परगना जिले में बसीरहाट जिले में सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई जिसके बाद राज्य सरकार ने स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस की मदद के लिए बीएसएफ के 400 जवान भेजे हैं।

पुलिस ने बताया कि बसीरहाट के बदुरिया में दो समुदायों के बीच सोमवार रात पोस्ट को लेकर झड़पें शुरू हुईं। उसके बाद एक युवक को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने कहा कि हिंसक भीड़ ने कई स्थानों पर सड़कों को जाम कर दिया और दूसरे समुदाय के लोगों पर हमला किया और कई दुकानों को निशाना बनाया।