8 मई को सरकार नक्सलियों के खिलाफ ले सकती है बड़ा फैसला

नई दिल्ली (25 अप्रैल): देश की सुरक्षा व्यवस्था के लिए नासूर बन चुके नक्सलियों ने जिस क्रूरता से सुकमा में CRPF के जांबाज जवानों को की हत्या की उससे देश सन्न है। पूरा देश एक सूर में नक्सलियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग कर रहा है। सरकार भी इसबार नक्सलियों से आरपार के मूड में दिख रही है। इसी कड़ी में गृह मंत्रालय ने 8 मई को दिल्ली में अहम बैठक बुलाई है। इस बैठक में नक्सल प्रभावित 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी शामिल होने के लिए कहा गया है। बताया जा रहा है कि इस बैठक सरकार नक्सलियों के खिलाफ किसी बड़े और सख्त कदम का ऐलान कर सकती है।

इससे पहले राजनाथ सिंह ने सुकमा में हुए नक्सली हमले को एक सोची समझी हत्या करार दिया है। रायपुर में सुकमा हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा जिस तरह से नक्सलियों ने हमला किया है ये उनकी बौखलाहट को बताता है।


उन्होंने कहा कि नक्सली आदिवासियों का विकास नहीं चाहते हैं। वो आदिवासियों और गरीबों के दुश्मन हैं। CRPF नेतृत्व पर जब राजनाथ सिंह से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा इस वक्त किसी पर दोषारोपण करना ठीक नहीं होगा। उन्होंने कहा CRPF नेतृत्व पर कोई शक नहीं है। इस वक्त किसी पर  दोष लगाना सही नहीं होगा।


राजनाथ सिंह ने कहा नक्सलियों ने गरीबों और आदिवासियों को ढाल बनाकर CRPF पर हमला किया। रायपुर में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद उच्चस्तरीय बैठक की। जिसमें पूरे हमले की जानकारी ली गई। वहीं सुकमा हमले पर कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा अब उन लोगों को दोबारा सोचना चाहिए जिन्होंने कहा था कि नोटबंदी के बाद नक्सली गतिविधि और कश्मीर में आतंकवाद बंद हो जाएगा।