राजनाथ ने पाक के मुंह पर कालिख पोती, खाना तक नहीं खाया

इस्लामाबाद (4 अगस्त): पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में हो रहे SAARC सम्मेलन में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पुरजोर तरीके से आतंकवाद के मुद्दे को उठाते हुए पाकिस्तान पर सीधा निशाना साधा। उन्होंने SAARC देशों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए हाल ही में बुरहान वानी के एनकाउंटर पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के बयान पर वार करते हुए कहा कि आतंकियों को शहीदों का दर्जा नहीं दिया जाना चाहिए।

इसी के साथ पाकिस्तान मीडिया ने भी राजनाथ सिंह के भाषण का विरोध करते हुए कोई मीडिया कवरेज नहीं की। हालांकि गृहमंत्री ने पाक को उसकी धरती पर खरी-खरी सुनाई और अपने भाषण के बार तुरंत भारत रवाना हुए।

- गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- "केवल आतंकवाद और आतंकियों की बुराई ही काफी नहीं है।"

- राजनाथ सिंह ने कहा कि जो भी आतंकवाद की मदद और प्रोत्साहन करते हैं। उन्हें शरण और संरक्षा देते हैं, उन्हें बिल्कुल अकेला कर देना चाहिए।

- उन्होंने कहा- "सिर्फ आतंकियों के खिलाफ ही नहीं बल्कि उनका समर्थन करने वाले संगठनों, लोगों और देशों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

- उन्होंने कहा- आतंकवाद अच्छा या बुरा नहीं होता, आतंकवाद सिर्फ आतंकवाद होता है।

- पाकिस्तान पीएम नवाज शरीफ पर निशाना साधते हुए राजनाथ सिंह ने कहा-  किसी भी आतंकवादी का शहीदों की तरह गुणगान और महिमामंडन नहीं होना चाहिए।

- पाक मीडिया ने राजनाथ सिंह का बॉयकाट करते हुए उनके भाषण का कोई कवरेज नहीं किया।

- भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह पाकिस्तान को आइना दिखाते हुए अपने भाषण को खत्म करने के बाद तुरंत भारत के लिए रवाना हुए।

- राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान सरकार की तरफ से दिए गए लंच का बहिष्‍कार किया।

गौरतलब है, गृहमंत्री राजनाथ सिंह के भाषण को ब्लैक आउट कर दिया गया है। किसी भी मीडिया को उनके भाषण को कवर करने से रोका गया है।