राजीव गांधी हत्याकांड: जेल में बंद दोषी की मां ने बेटे के लिए मांगी इच्छा मृत्यु

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 16 जून ): पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्‍या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे अभियुक्तों को रिहा करने तमिलनाडु सरकार को याचिका खारिज कर दी, जिसके बाद जेल में बंद अभियुक्तों में से एक एजी पेरारिवालन की मां ने अपने बेटे के लिए इच्छा मृत्यु की मांग की है।दोषी एजी पेरारीवलन की 71 वर्षीय मां अरपुथम्‍मल ने मांग की है कि उसके बेटे को इच्‍छा मृत्‍यु की इजाजत दी जाए, क्‍योंकि वह जेल में धीरे-धीरे मर रहा है। अरपुथम्‍मल ने कहा- 'मैं नहीं चाहती कि मेरा बेटा व्‍यथा में मर जाए। मैं इसके लिए राज्‍य व केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखूंगी ताकि उसे इच्‍छा मृत्‍यु की इजाजत मिले।'दरअसल, अरपुथम अम्मल ने गुरुवार को तमिलनाडू के कानून, अदालत और जेल के मंत्री सीवी शनमुगम से अनुरोध किया था कि पेरारिवालन को उसकी रिहाई तक पुझल सेंट्रल जेल में ही रखा जाए। पेरारिवालन को दो सप्ताह पहले ही राजीव गांधी जनरल गवर्नमेंट अस्पताल में उनके इलाज को जारी रखने के लिए उन्हें पुझल जेल में स्थानांतरित किया गया था।पेरारिवालन की मां ने कहा, 'वह यहां बहुत बेहतर था और जगह के बदलाव ने भी उसकी मदद की। इसलिए मैंने व्यक्तिगत रूप से मंत्री के पास याचिका दायर कर उनसे अनुरोध किया कि उसे वापस वेल्लोर सेंट्रल जेल न भेजा जाए।' लेकिन राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका खारिज किए जाने की खबर ने अर्पुथम्मल और उनके परिवार के सदस्यों की आशाओं को खत्म कर दिया।