रजनीकांत कलयुग के राजा दुर्योधन और मैं कर्ण: मोहन बाबू

नई दिल्ली (4 सितंबर): दक्षिण भारतीय फिल्मों के दिग्गज अभिनेता एम मोहन बाबू ने लंबे समय बाद अपने मित्र रजनीकांत से उनके निवास पर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने रजनीकांत को कलयुग का दुर्योधन और खुद को कर्ण बताया।

मोहन बाबू ने एक तस्वीर भी टि्वटर पर साझा की और लिखा, "अपने सबसे अच्छे दोस्त से मिलकर अच्छा लगा। वह राजा की तरह दिखते हैं, वह इस कलयुग के दुर्योधन और मैं कर्ण हूं।" इसी के साथ उन्होंने एक दूसरी तस्वीर भी ट्वीटर पर साझा की है, जिसमें वह रजनीकांत की पत्नी लथा के साथ हैं।

मोहन बाबू और रजनीकांत दशकों से मित्र हैं। दोनों ने 1995 में तेलुगू फिल्म 'पेदरयूदु' में साथ काम किया था। मांचू भक्तवत्सलम नायडू के रूप में जन्मे मोहन बाबू (डॉ॰ एम. मोहन बाबू) आंध्र प्रदेश भारत से एक अभिनेता, निर्माता, राजनीतिज्ञ हैं। 2007 में उन्होंने भारत के राष्ट्रपति से, प्रतिष्ठित राष्ट्रीय सम्मान पद्मश्री प्राप्त किया। मोहन बाबू ने 510 फिल्मों में अभिनय किया है, जिसमें 216 फिल्मों में वे नायक के रूप में थे।