रजनीकांत बोले- मेरे कारण 1996 में हारी थीं जयललिता, शोक में आज नहीं मनाएंगे अपना बर्थडे

नई दिल्ली(12 दिसंबर): रजनीकांत ने कहा है कि तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता उनके कारण 1996 का चुनाव हारी थीं। उस वक्त उन्होंने उनकी (जयललिता) राजनीति की आलोचना की थी।

- रविवार को साउथ इंडियन आर्टिस्ट्स एसोसिएशन की शोक सभा में उन्होंने कहा, ''मेरी आलोचना से वे आहत हुई थीं।'' बता दें कि 5 दिसंबर को चेन्नई के एक हॉस्पिटल में जयललिता की मौत हो गई थी।

- 20 पहले जयललिता को लेकर रजनीकांत ने बयान दिया था।

- उस वक्त रजनीकांत का बयान काफी चर्चा में रहा था। उन्होंने कहा था, ''अगर जयललिता सत्ता में वापस आईं तो भगवान भी तमिलनाडु को नहीं बचा सकता।''

- रजनीकांत ने उन्हें याद करते हुए कहा, ''संबंधों में खटास के बाद भी जब वे मेरी बेटी की शादी में आईं तो मुझे बहुत खुशी हुई।''

- ''मैंने सोचा था कि वे आना नहीं चाहेंगी। लेकिन वे आईं। रजनीकांत ने कहा कि वे कोहिनूर की तरह चमक रही हैं।''

- तमिलनाडु में पूर्व मुख्‍यमंत्री जयललिता के निधन के बाद से ही गम का माहौल है। इसी कारण रजनीकांत ने अपना जन्मदिन नहीं मनाने का फैसला लिया है।

- पिछले दिनों रजनीकांत ने कहा था, ''मेरे जन्‍मदिन पर बैनर-पोस्‍टर नहीं लगाएं।" बता दें कि आज रजनीकांत का जन्‍मदिन है। वो 66 साल के हो गए।