अमेठी का IIIT बंद करने के पीछे सरकार की बदले की भावना : राजीव शुक्ला

नई दिल्ली (4 अगस्त): केंद्र सरकार पर कांग्रेस ने बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया है। राज्य सभा में कांग्रेस ने मुद्दा उठाया कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्रों के तकनीकी संस्थानों को हटाया जा रहा है। 

कांग्रेस के सांसद राजीव शुक्ला ने कहा कि केंद्र सरकार स्किल डेवलपमेंट की खूब बात करती है, लेकिन जिस तरह से ट्रिपल आईटी को बंद किया गया, उससे बड़ी संख्या में छात्रों का भविष्य अधर में पड़ गया। अब ट्रिपल आईटी को बंद करके इलाहाबाद ले जाया जा रहा है। इससे छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सांसद राजीव शुक्ला ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने जिन कारखानों को लगवाया था, उनको धीरे-धीरे या तो बंद किया जा रहा है, या फिर उन्हें केंद्र से मिलने वाली आर्थिक मदद कम की जा रही है। इस तरह की बदले की भावना से सरकार को काम नहीं करना चाहिए। हालांकि, इस पर सरकार की तरफ से वेकैंया नायडू ने सफाई भी दी।

बता दें कि आईआईआईटी इलाहाबाद के विस्तार परिसर के रूप में 2005 में स्थापित अमेठी परिसर को राजीव गांधी आईआईआईटी नाम दिया गया था। कैंपस के दो हॉस्टल, गेस्ट हाउस और एक सभागार और अन्य चीजें बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय कौशल विकास निगम को स्नातक और स्नातकोत्तर कार्यक्रमों को चलाने के लिए सौंप दी जाएंगी।

देखिए न्यूज़24 की रिपोर्ट...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=D9CHg4kp17E[/embed]