राजस्थान: सरकार को करोड़ों का चूना लगा रहे हैं निजी स्कूल


केजे श्रीवत्सन, जयपुर (4 जनवरी):
राजस्थान में निजी स्कूलों का बड़ा गोरखधंधा सामने आया है। न्यूज 24 ने कई निजी स्कूलों में घोटाले की पड़ताल की है, जिसमें शिक्षा के अधिकार के नाम पर ये स्कूल सरकार को करोड़ों का चूना लगा रहे हैं।

नेहा जांगिड नेहा जयपुर के पास नेवटा में एक सरकारी स्कूल में पढ़ती है, जहां उसे निशुल्क शिक्षा दी जाती है। लेकिन नेहा की शिक्षा के नाम पर कुछ घोटालेबाज सरकार से हर साल 10 हजार की राशि हजम कर रहे हैं। ये खुलासा हुआ है आरटीआई में, जिसमें पता चला कि शिक्षा के अधिकार के तहत नेहा को बेहतर शिक्षा दिलाने के नाम पर सरकारी पैसों की लूट हो रही है और ये लूट कोई और नहीं बल्कि कुछ निजी स्कूल कर रहे हैं।

जब न्यूज 24 की टीम ने इस घोटाले की पड़ताल शुरु की तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुए। न्यूज 24 की पड़ताल में शिक्षा के अधिकार के तहत गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा देने के नाम पर निजी स्कूलों में चल रहे गोरखधंधे का पर्दाफाश हुआ। नेहा जांगिड जोकि नेवटा के सरकरी स्कूल में पढ़ती है। उसकी निशुल्क शिक्षा के नाम पर कोई दूसरा प्राइवेट स्कूल सरकार से पैसे ले रहा है, वो भी शिक्षा के अधिकार के नाम पर। न्यूज 24 की पड़ताल में सामने आया कि नेहा जैसे ही 300 ऐसे बच्चे हैं जो पढ़ते तो सरकारी स्कूलों में हैं, लेकिन उनकी शिक्षा के नाम पर दूसरे निजी स्कूल सरकार से फीस के तौर पर कई हजार रुपए हर महीने ले रहे हैं।

दरअसल नेहा जब साढ़े 3 साल की थी तो परिवारवालों ने उसका एडमिशन रवि बाल भारती स्कूल में नर्सरी क्लास में करवाया था, लेकिन बाद में उसका नाम वहां से कटवाकर पास के सरकारी स्कूल में दाखिला करा दिया। नेहा का स्कूल बदल गया, वो प्राइवेट से सरकारी स्कूल में आ गई। लेकिन कागजों पर वो प्राइवेट स्कूल में ही पढ़ रही थी। जांच शुरू हुई तो पता चला कि बच्ची 2-2 स्कूल में पढ़ रही है। सरकारी स्कूल में भी उसे निशुल्क शिक्षा मिल रही है और प्राइवेट स्कूल भी उसकी निशुल्क शिक्षा के नाम पर सरकार से पैसे वसूल रहे हैं। इसी तरह करीब 300 ऐसे बच्चों का खुलासा हुआ जिनके दस्तावेजों का हेर-फेर कर इस घोटाले को अंजाम दिया गया।

वीडियो: