राजस्थान: शादी में नहीं बजेगा डीजे

नई दिल्ली(14 अगस्त): राजस्थानी शादियां अपने आप में मशहूर हैं। यहां जमकर संगीत बजता और डांस होते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। 

- राजस्थान के जैन समुदाय ने कई गांवों में अब शादियों में होने वाले संगीत कार्यक्रम को बंद करने का संकल्प लिया है। उनका कहना है कि संगीत समारोह या डीजे शादी का कोई रिवाज नहीं है और इससे सिर्फ अनावश्यक खर्चा ही बढ़ता है। इसलिए शादी में अनावश्यक खर्च कम करने के लिए यह कदम उठाया गया है। इस कदम का जैन समुदाय के लोगों के साथ अन्य लोगों ने भी समर्थन किया है।

- इसके साथ ही पाली जिले के सेवाड़ी गांव के लोगों ने संकल्प लिया है कि अब शादी में होने वाला कुल खर्चा दुल्हा और दुल्हन दोनों पक्ष समान रूप से वहन करेंगे। 

- गांववालों का मानना है कि यह संगीत समारोह आदि में किया गया खर्च दुल्हन के परिवार एक अनचाहा बोझ बनता है। इसके लिए जयपुर, जोधपुर और सिरोही जिले के जैन संघ ने निर्देश जारी किए हैं। इन नियमों को नहीं माननों वाले परिवारों पर जुर्माना लगाया जाएगा। अधिकतर गांवों में जुर्माने की राशि 35000 रुपये रखी गई है। अगर गांंव के संघ को लगता है कि एक ही परिवार कई बार नियम तोड़ चुका है तो उस परिवार का 6 महीने से 1 साल तक बहिष्कार किया जा सकता है।