अब राजस्‍थान के जाटों ने किया दिल्ली कूच का किया ऐलान

जयपुर (21 फरवरी): हरियाणा में आरक्षण को लेकर चल रहे जाट आंदोलन की आग राजस्थान भी जा पहुंची है। राजस्थान के जाटों ने भी हुंकार भरते हुए आरक्षण आंदोलन में उतरने का ऐलान कर दिया है।

हालांकि अभी राजस्थान के जाटों के इस आंदोलन में शामिल होने की रूप रेखा पूरी तरह से तैयार नहीं की गई है, लेकिन नेताओं ने चेता दिया है कि जल्द ही हरियाणा के जाटों की आरक्षण सम्बन्धी मांगे नहीं मानी गई तो जल्द ही राजस्थान के जाट दिल्ली के लिए कूच करेंगे।

पूर्व सांसद और जाट नेता डॉक्टर हरी सिंह ने जयपुर में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि हरियाणा के जाटों की आरक्षण सम्बन्धी मांगे जायज़ है। उन्होंने खट्टर सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि आरक्षण के लिए शांतिपूर्ण चल रहे जाटों आंदोलन को सरकार ने सोची समझी साजिश के तहत भड़काने का काम किया है। शान्ति से बात नहीं बनी तो जाटों को मजबूरन क्रान्ति की राह पकड़नी पड़ी है।

'अब गांधी नहीं-बोस का तरीका सही' डॉक्टर सिंह ने कहा कि वे खुद महात्मा गांधी के उपासक है और शांतिपूर्ण तरीके से अपनी मांगे मनवाने के पक्षधर हैं, लेकिन मौजूदा समय और परिस्थितियां ऐसी बन गई हैं कि अब मांगों को सुभाष चन्द्र बोस के तरीके से मनवाया जाना पड़ता है।