स्कैनर से नकली नोट छापने वाले गिरोह का भंडाफोड़, पांच गिरफ्तार

नई दिल्ली ( 13 अप्रैल ): राजस्थान की राजधानी जयपुर के बस्सी पुलिस थाना क्षेत्र में जयपुर-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर बुधवार को पुलिस ने नकली नोट छापने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। फैक्ट्री में दो हजार व पांच सौ और 100 रुपये के नकली नोट बनाए जा रहे थे। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।


पुलिस को उनके पास से एक लाख 78 हजार के कीमत के 2000 रुपए नकली नोट बरामद किए हैं। इस नकदी को अप्रत्यक्ष रूप से आतंकवादी गतिविधियों में काम लिए जाने की आशंका के चलते पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है


डीसीपी इस्ट कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि इस गिरोह के सरगना छोटे लाल उर्फ छोटू लाल माली बाइक से जाली नोट लेकर गुड़ा चन्दरजी सरकारी स्कूल के पास किसी व्यक्ति को डिलीवरी देने जा रहा था। इसकी सूचना पुलिस को मिल थी। इस पर थाना अधिकारी वीरेंद्र सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे, जहां पुलिस ने छोटे लाल को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से दो हजार के 26 नोट और सौ रुपए के तीन नोट मिले।

 

छोटेलाल ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसके साथी मुकेश बावरिया के साथ 52 फुट हनुमान मंदिर के पीछे किराए पर मकान ले रखा है। यहां पर रंगीन फोटो कॉपी की मदद से असली नोट को स्कैन कर प्रिंट करने का काम करते हैं। वे रंगीन फोटो स्टेट मशीन से नोट बनाते हैं।


डीसीपी ने बताया कि आरोपियों में छोटे लाल निवासी तुंगा, मुकेश उर्फ राम सिंह निवासी बस्सी, सलीम निवासी कच्ची बस्ती गलता गेट, धनराज मीणा निवासी बस्सी और रामकल्याण को गिरफ्तार किया गया है।