Blog single photo

राजस्थान: सीएम की रेस में अशोक गहलोत आगे

विधानसभा चुनाव के बाद अब मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की सरकार होगी। राजस्थान में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है। राजस्थान में 199 सीटों पर हुए चुनाव में कांग्रेस- 99, बीजेपी- 73 और अन्य 27 सीटें पर जीत हांसिल करने में कामयाब रही है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 दिसंबर): विधानसभा चुनाव के बाद अब मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की सरकार होगी। राजस्थान में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है। राजस्थान में 199 सीटों पर हुए चुनाव में कांग्रेस- 99, बीजेपी- 73 और अन्य 27 सीटें पर जीत हांसिल करने में कामयाब रही है। राजस्थान में फिलहाल इस बात की चर्चा जोरों पर है कि वसुंधरा राजे के बाद अब प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। इस सिलसिले में जयपुर में चुने गए विधायकों की बैठक हो रही है। इस बैठक में नवनियुक्त विधायक प्रस्ताव पास करेंगे। विधायकों के विचार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने रखे जाएंगे। इसके बाद बुधवार शाम को मुख्यमंत्री का नाम सार्वजनिक कर दिया जाएगा। ये बैठक पार्टी की ओर से भेजे गए केंद्रीय पर्यवेक्षक अविनाश पांडे और केसी वेणुगोपाल की मौजूदगी में हो रही है।जानकारी के मुताबिक में मुख्यमंत्री पद के दो मुख्य दावेदार है। अब कांग्रेस के सामने अब बड़ी चुनौती यह है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसे बनाया जाए। सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दोनों मुख्यमंत्री पद के प्रवल दावेदार हैं। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक सीएम की रेस में अशोक गहलोत आगे बताए जा रहे हैं। पार्टी महासचिव अशोक गहलोत का लंबा राजनीतिक का सफर रहा है। ऐसे में प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष सचिन पायलट की जगह उन्हें राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। गहलोत का पार्टी में भी खासा प्रभाव रहा है। वहीं सचिन पायलट का कहना है कि मुख्यमंत्री को लेकर अंतिम फैसला पार्टी आलाकमान करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता वसुंधरा सरकार की नीतियों और फैसले से परेशान थी, इसलिए उसने बीजेपी के खिलाफ जनादेश दिया।राजस्थान में कांग्रेस कांग्रेस सरकार बनाने के जादुई आंकड़े 101 सीट से दो कदम दूर है। ऐसे में निर्दलीयों की भूमिका बढ़ गई है। हालांकि इस बार कांग्रेस के बागी नेता बड़ी संख्या में जीते हैं, जिन्होंने कांग्रेस की सरकार बनता देख घर वापसी के संकेत दिए हैं। कांग्रेस के ऐसे 8 बागी विधायक हैं जिन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात के बाद पर्यवेक्षकों से मुलाकात कर अपनी राय रखी है। वहीं मीणा जाति के तीन बागी विधायकों ने भी अशोक गहलोत पर भरोसा जताया है। इधर बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने भी मध्यप्रदेश के साथ-साथ राजस्थान में भी कांग्रेस को समर्थन का ऐलान कर दिया है।ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...

Tags :

NEXT STORY
Top