राजस्‍थान में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, यहां जानें- किसे मिला कौन का मंत्रालय

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (27 दिसंबर): 5 साल बाद राजस्थान की सत्ता में वापसी के बाद अशोक गहलोत की सरकार ने अपने मंत्रियों के विभागों का ऐलान कर दिया है। मुख्यमंत्री गहलोत ने गृह और वित्त मंत्रालय समेत 9 मंत्रालय अपने पास रखा है। जबकि उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को लोक निर्माण, पंचायती राज, ग्रामीण विकास मंत्रालय और विज्ञान-तकनीकी समेत कुल 5 मंत्रालयों का जिम्मा सौंपा गया है। बुलाकी दास कल्ला को उर्जा विभाग और भू-जल विभाग समेत 4 विभाग सौंपे गए हैं। जबकि शांति कुमार धारीवाल को संसदीय कार्य मंत्रालय समेत 3 विभाग दिए गए हैं।



विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद 17 दिसंबर को अशोक गहलोत ने राज्य के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। उनके साथ प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सचिन पायलट ने भी उपमुख्यमंत्री के रूप में पदभार ग्रहण किया। 24 दिसंबर को मंत्रिमंडल विस्तार हुआ था जिसमें 13 कैबिनेट मंत्री और 10 राज्य मंत्रियों ने शपथ ली थी, लेकिन अगले 3 दिन तक नए नवेले मंत्रियों के विभागों का ऐलान नहीं किया जा सका था। बताया जा रहा है कि कहाअशोक गहलोत और सचिन पायलट- दोनों ही अपने-अपने कोटे के मंत्रियों को अच्छे मंत्रालय देने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं।  इस वजह से मंत्रिमंडल के बंटवारे में वक्त लग गया। विभागों के बंटवारे से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार शाम पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी। इस दौरान गहलोत के अलावा पार्टी के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे और कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल भी राहुल गांधी के आवास 12 तुगलक लेन पहुंचे थे।



मंत्रिमंडल में बंटवारे में देरी को लेकर बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना भी साधा था। राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने आरोप लगाया कि राज्य में इस समय दो समानांतर सरकारें चल रही हैं जो एक-दूसरे से लड़ रही हैं। वहीं, पूर्व मंत्री अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में धड़े बंट गए हैं। चतुर्वेदी ने मजाक उड़ाते हुए कहा कि राहुल गांधी ही मंत्रियों के निजी सचिव भी तय करेंगे।